Take a FREE Bodywise Wellness Assessment

प्रेगनेंसी होने के लक्षण | Pregnancy Symptoms in Hindi - Bodywise


1 min read
प्रेगनेंसी होने के लक्षण | Pregnancy Symptoms in Hindi - Bodywise

प्रेगनेंसी टेस्ट से महिला यह पता लगा सकती है की वह प्रेग्नेंट है या नहीं। लेकिन कुछ ऐसे लक्षण भी होते है जिनसे प्रेग्नेंट होने का अनुमान लगाया जा सकता है। प्रेग्नेंट होने के लक्षण सामान्य ही होते है।

अगर आपको भी नीचे बताये गए लक्षण खुद में नजर आ रहे है तो प्रेग्नेंसी टेस्ट करवा कर इस बात का पता लगा सकती है।


प्रेगनेंसी होने के लक्षण (Pregnancy Symptoms in Hindi)

चक्कर आना या जी मचलना - यह लक्षण सभी महिलाओं में तो नहीं दीखते है पर कुछ महिलाओं में गर्भधारण करने के बाद ही चक्कर आने लगते है और जी मचलाने लगता है।

  • उल्टी आना - उल्टी होना प्रेगनेंसी का सबसे सामान्य लक्षण है लेकिन बहुत सी  महिलाएं इसे सीरियस नहीं समझती है और टाल देती है। दिन में कई बार उल्टी आने जैसा महसूस होता है। इस तरह का महसूस होना पुरे गर्भावस्था तक होता है।
  • पीरियड्स ना आना - माहवारी का ना आना भी महिला के प्रेग्नेंट होने की तरफ इशारा करता है। अगर आपकी माहवारी हर महीने समय पर आती है और कभी बहुत ज्यादा समय तक मासिक धर्म ना आये तो आपको प्रेगनेंसी टेस्ट करा लेना चाहिए।
  • पेट फूलने की समस्या - प्रेगनेंसी के लक्षण में पेट फूलता हुआ भी नजर आता है। ऐसा हार्मोन परिवर्तन की वजह से भी होता है। इसके साथ ही डकार और गैस की समस्या भी होती है।
  • गंध में बदलाव - कुछ महिलाएं स्वाद को लेकर परेशान हो जाती है उनके स्वाद में बदलाव आने लगता है। साथ ही सूंघने की क्षमता में भी बदलाव आने लगता है खाने की कुछ चीजों से चिढ़ने लगती है।
  • मॉर्निंग सिकनेस - यह दिन या रात के समय ज्यादा होती है। गर्भवती होने के एक महीने के बाद मॉर्निंग सिकनेस होने लगती है। लेकिन बहुत सी महिलाओं को यह जल्दी शुरू हो जाती है।
  • पाचन क्रिया कमजोर होना - इस समय पाचन क्रिया कमजोर हो जाती है। जिसकी वजह से कब्ज होने की समस्या उठानी पड़ सकती है। पाचन क्रिया धीमी होने की वजह से गैस भी बनने लगती है।
  • ऐंठन होना - अगर आप प्रेग्नेंट है तो आपको ऐंठन महसूस हो सकती है। जिस तरह पीरियड के समय ऐंठन होती है। वैसी ही ऐंठन गर्भवती महिला को होती है जो की पेट और पीठ के निचले भाग में होती है।

यह भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान पढ़ने के लिए किताबें

प्रेगनेंसी के पहले हफ्ते के लक्षण (Pregnancy Symptoms Week 1 in Hindi)

गर्भ धारण करने के अगले महीने के बाद से ही प्रेग्नेंट होने का पता चलता है। शुरूआती लक्षण वैसे तो पता नहीं चलते है लेकिन आपको इन लक्षणों को महसूस करना होगा।

जानते है पहले हफ्ते की प्रेगनेंसी के लक्षण क्या होते है।

  • मूड बदलना - बहुत सी महिलाओं के मूड में बार - बार बदलाव आता है। कभी - कभी वह अचानक चिढ़ने लग जाती है। एकदम से गुस्सा आना या उदास हो जाना ऐसे मूड में बदलाव आने लगता है।
  • कमर में दर्द - इस समय यूटेराइन लाइनिंग रिलीज होने की वजह से गर्भाशय में खिंचाव आने लगता है। जिसके कारण कमर में और पेट में दर्द होने लगता है।
  • सपने अधिक आना - पहले हफ्ते की प्रेगनेंसी के लक्षण में रोज की  तुलना में सपने अधिक आते है।
  • सिर दर्द होना - कुछ महिलाओं को सिर में दर्द होने लगता है। जैसे किसी को मेंस्ट्रुअल माइग्रेन होता है जो हार्मोन से संबंधित होता है।
  • मुंह के स्वाद में बदलाव - प्रेगनेंसी के शुरुआती लक्षण में मुँह का स्वाद बदल जाता है और भोजन बस कड़वा ही लगता है जिस वजह से बस खट्टी चीजों का स्वाद ही अच्छा लगता है।

मासिक धर्म से पहले के प्रेगनेंसी लक्षण (Before Period Pregnancy Symptoms in Hindi)

मासिक धर्म अगर मिस हो जाता है तो बहुत सी महिलाएं समझती है की वह प्रेग्नेंट है ज्यादातर महिलाये इसी तरह प्रेगनेंसी का अंदाजा लगाती है। पीरियड आने से पहले के लक्षण से भी पता लगाया जा सकता है की महिला प्रेग्नेंट है या नहीं।

  • बार - बार पेशाब जाना - प्रेगनेंसी के दौरान बार-बार पेशाब आना सामान्य है। क्योंकि इस समय शरीर में रक्त का ज्यादा उत्पादन होता है। इस वजह से यह समस्या होती है। जब मासिक धर्म की तारीख करीब होती है। तब यह लक्षण दिखाई देता है।
  • रक्तस्त्राव -  प्रत्यारोपण के बाद होने वाला रक्तस्राव प्रेगनेंसी के शुरूआती लक्षण में से एक है जो गर्भधारण के १० दिनों के बाद ही होने लगता है यह रक्तस्राव पीरियड के निश्चित समय से ७ या ८ दिन पहले होता है पर यह रक्तस्राव सामान्य पीरियड की अपेक्षा कम होता है।
  • शरीर के तापमान में वृद्धि - ओवुलेशन के बाद प्रेगनेंसी के सिम्पटम्स भी देखे जा सकते है, क्योंकि शरीर का तापमान ओवुलेशन से पहले ज्यादा हो जाता है तथा पीरियड के बाद सामान्य हो जाता है पर प्रेगनेंसी के समय शरीर का तापमान ज्यादा ही रहता है।
  • स्तनों में सूजन या भारीपन - प्रेगनेंसी शुरू होने के दिनों में प्रोजेस्ट्रोन हॉर्मोन बढ़ने के कारण स्तनों में सूजन आ जाती है और वह भारी भी हो जाते है।
  • थकान होना - थकान व नींद आने जैसा महसूस करना भी गर्भवती होने के शुरूआती लक्षण होते है। ऐसा हार्मोन में बदलाव के कारण होता है थोड़ा सा काम करने पर ही थकान होने लगती है। पोषण से भरे भोजन का सेवन करके इसे दूर किया जा सकता है।  
  • दर्द होना - पीरियड आने के निश्चित समय से पहले रीढ़ की हड्डी के आसपास दर्द या पीड़ा का अनुभव होता है और जोड़ो में भी खिंचाव होने लगता है।
  • अधिक प्यास या ज्यादा भूख - अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो परेशान होने की बात नहीं है। पीरियड्स आने के पहले से ही अधिक प्यास और भूख लगती है रक्त में वृद्धि होने से बार - बार प्यास और हार्मोन में वृद्धि होने की वजह से हर समय  भूख लगती है।

यह भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान खरबूजे


प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है

गर्भाधान के ६ से १४ दिन बाद ही प्रेग्नेंट होने के लक्षण दिखाई देने लगते है। आप इन ६ से १४ दिनों में अपने शरीर में परिवतर्न महसूस करने लग जाते है। जिससे पता लगाया जा सकता है की महिला प्रेग्नेंट है।

यदि बताये गए सभी लक्षण आपको महसूस हो रहे है तो आप शायद प्रेग्नेंट हो सकती है। लेकिन यह सच मान लेने से पहले प्रेग्नेंसी टेस्ट जरूर करा लेना चाहिए डॉक्टर की सलाह अवश्य ले और पहले प्रेग्नेंसी की पुष्टि कर ले।

GO TOP

🎉 You've successfully subscribed to Bodywise!
OK