Take a FREE Bodywise Wellness Assessment

एलोवेरा के फायदे, नुकसान व औषधीय गुण | Aloe Vera Benefits in Hindi


1 min read
एलोवेरा के फायदे, नुकसान व औषधीय गुण | Aloe Vera Benefits in Hindi

एलोवेरा को एक औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है. एलोवेरा की बहुत सारे फायदे है, चाहे वह त्वचा की बीमारी हो या या पेट की। एलोवेरा का उपयोग कई बीमारियों से निजात पाने के लिए  किया जाता है। एलोवेरा में आयुर्वेदिक औषधि गुण मौजूद होते हैं जो हमें बीमारियों को खत्म करने में सहायता मिलती है। चलिए एलोवेरा के फायदे के तथा एलोवेरा से क्या नुकसान हो सकते हैं, इसके बारे में जानने  वाले हैं।

एलोवेरा क्‍या है? (What is Aloe Vera in Hindi?)

एलोवेरा एक छोटा पौधा होता है, यह पौधा औषधि गुण के लिए विख्यात है। इस पौधे की लंबाई साठ से सौ सेंटी मीटर तक होती है, तथा इसका उपयोग में लाया जाने वाला भाग एक गुदेदार और रसीला होता है।

इसकी पत्तियां एकदम हरी होती हैं या हम कह सकते हैं, कि यह स्लेटी कलर का होता है, परंतु कुछ प्रजातियां ऐसी होती है, जिसमें ऊपरी और निचले भाग में सफेद धब्बे पाए जाते हैं। एलोवेरा की पत्तियों के किनारे भाग पर एक आरी की तरीके से दांत उपस्थित होते हैं।

यह भी पढ़ें: त्वचा के लिए केसर के फायदे

अन्य भाषाओं में एलोवेरा के नाम (Name of Aloe Vera in Different Languages)

एलोवेरा को अन्य भाषाओं में अलग-अलग नामों से जानते हैं, जिसे मैंने कुछ निम्नलिखित नाम दिए हैं

  • अंग्रेजी - अंग्रेजी में इसे एलोवेरा तथा कॉमन एलोवेरा कहते हैं।
  • हिंदी - हिंदी में एलोवेरा को घिकुआंर घिग्वार या ग्वार पाठा कहते हैं।
  • गुजराती - गुजराती में एलोवेरा को कुवार तथा कड़वी कुंवर कहते हैं
  • संस्कृत - सबसे ज्यादा दूसरे नाम से एलोवेरा भारत में घृतकुमारी तथा कुमारी नाम से जाना जाता है।
  • तेलुगू - तेलुगु में इसे कल बंद नाम से जानते हैं।
  • पंजाबी - कुरवा नाम से पंजाब में जाना जाता है।
  • बंगाली - बंगाली मैं भी यह घृतकुमारी नाम से जाना जाता है।
  • मराठी - मराठी भाषा में इसे कोरा फट्टा नाम से जाना जाता है।

एलोवेरा के फायदे  (Aloe Vera Benefits and Uses in Hindi)

) एलोवेरा खांसी जुकाम में फायदेमंद

एलोवेरा खांसी जुकाम में बहुत ही असरदार काम करता है। लेकिन आपको यह पता होना आवश्यक की एलोवेरा का खांसी जुकाम में किस तरीके से उपयोग करें। सबसे पहले आपको एलोवेरा के पौधे का जूस निकालना है। उसके बाद एलोवेरा के जूस के साथ सेंधा नमक मिलाकर राख बना ले, तथा  रात को सुबह शाम पांच 5 - 5 ग्राम मुनक्का के साथ सेवन करें आपको सर्दी जुकाम में जल्दी आराम मिलेगा।

2) एलोवेरा सिर दर्द में फायदेमंद

हमने आयुर्वेदिक डॉक्टर से सुना है, कि एलोवेरा का उपयोग  सिर दर्द के लिए किया जाए तो काफी फायदेमंद हो सकता है। इसका उपयोग कुछ इस प्रकार से करना है- सबसे पहले आपको एलोवेरा का जेल ले लेना तथा इसमें थोड़ी सी मात्रा में दारूहल्दी का चूर्ण को मिला ले, तथा इसे गर्म करके पीड़ा वाले जगह पर लगा ले, आपको जल्द ही आराम मिलेगा।

) एलोवेरा कब्ज में फायदेमंद-

एलोवेरा पेट से संबंधित कई विकारों से छुटकारा दिलाता है, लेकिन आपको ज्ञात होना चाहिए, कि कब्ज से छुटकारा पाने के लिए किस तरीके से एलोवेरा का इस्तेमाल करना चाहिए। एलोवेरा का जेल निकालकर पीने से कब्ज से छुटकारा मिल सकता है।

) एलोवेरा आंखों के लिए फायदेमंद

एलोवेरा आंखों के लिए काफी अच्छा माना जाता है। आयुर्वेद में इसका प्रयोग किया जाता है, आंखों के लिए आप एलोवेरा के गुदे को निकालकर उसमें थोड़ी सी हल्दी को गर्म कर ले, और इसे आंखों पर बांध ले इससे आपके आंखों पर होने वाली लालिमा तथा आंखों में होने वाली सूजन को कम करता है।

५) एलोवेरा कान के लिए फायदेमंद

यदि किसी को कान दर्द की समस्या है, तो इससे निजात पाने के लिए आप एलोवेरा का जूस हल्का गुनगुना करके जिस कान में दर्द हो उस कान में दो बूंद डालने से कान का दर्द कम होता है।

यह भी पढ़ें: पीसीओएस के लिए अलसी के बीज के क्या फायदे हैं?

एलोवेरा त्वचा के लिए फायदेमंद (Aloe Vera Benefits For Skin in Hindi)

मुहांसों के लिए फायदेमंद

यदि आप भी मुहांसों से परेशान है, तो आप एलोवेरा जेल तथा पपीते के  पेस्ट को मिलाकर आप अपने चेहरे पर लगाएंगे तो मुहांसों से छुटकारा पा सकते हैं।

स्किन के सूजन में फायदेमंद

यदि आपके त्वचा पर सूजन या फिर एशेज हैं, तो आप एलोवेरा का जेल इस्तेमाल करके निजात पा सकते हैं। इसीलिए एलोवेरा स्किन के लिए काफी अच्छा माना जाता है।

त्वचा की जलन व छीलन में फायदेमंद

यदि आपकी त्वचा में जलन है तो आप एलोवेरा जेल इस्तेमाल कर सकते हैं। एलोवेरा जेल का इस्तेमाल आप रात के समय यानी सोने के पहले पानी से अच्छे से मुंह को धो ले, तथा के बाद एलोवेरा जेल लगाकर उसके ऊपर से नारियल तेल लगा लें । इसको रात भर लगा रहने दें, तथा सुबह पानी से अच्छे से धो लें यह प्रक्रिया जब तक जलन ठीक ना हो जाए तब तक करें।

त्वचा में खुजली तथा चकत्ते के लिए फायदेमंद

एलोवेरा ठंडक पहुंचाने के लिए काफी अच्छी गुणकारी औषधि मानी जाती है इसलिए आप एलोवेरा का जेल लगाने से खुजली व चक्कतों से आराम मिलती है।

एलोवेरा के नुकसान (Side Effects of Aloe Vera in hindi)

कमजोरी महसूस होना

यदि आप इसका लगातार सेवन कर रहे हैं तो आपके शरीर के अंदर पोटेशियम की मात्रा अधिक हो जाएगी. ये समस्या केवल ज़रूरत से अधिक सेवन से ही होती है।

त्वचा में संक्रमण की समस्या

यदि आप एलोवेरा का इस्तेमाल बहुत ज्यादा मात्रा में कर रहे हैं, तो आपको इसका इस्तेमाल कम करना चाहिए, नहीं तो हो सकता है, आपकी त्वचा में रेसेज व खुजली जैसी समस्या हो।

ब्लड शुगर की समस्या

यदि आप लगातार एलोवेरा का सेवन कर रहे हैं, तो आपका ब्लड शुगर स्तर प्रभावित हो सकता है, जिससे आपको बीपी की समस्या हो सकती है।


एलोवेरा के उपयोगी भाग (Useful Parts of Aloe Vera in Hindi)

एलोवेरा का उपयोग किया जाने वाला भाग अलोवेरा की पत्तियां होती हैं, जो हमें कई बीमारियों से बचाने में हमारी रक्षा करती हैं।

एलोवेरा का इस्तेमाल कैसे करें? (How  to Use Aloe Vera in Hindi?)

स्किन टोन लाइट करने के लिए एलोवेरा का गूदा निम्बू और शहद में मिलाकर चेहरे पर लगाए इसके लिए आधा निम्बू, २ चम्मच एलोवेरा जेल और एक चम्मच शहद को मिक्स कर ले।

अब इसे १५ मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखे फिर गुनगुने पानी से चेहरे को धो ले।

एलोवेरा कहां पाया या उगाया जाता है? (Where is Aloe Vera Found or Grown?)

एलोवेरा को बड़े स्तर पर भी उगाया जा सकता है यानि की इसकी खेती की जा सकती है इसके साथ ही घर पर पौधे में भी एलोवेरा को उगा सकते है।

निष्कर्ष

एलोवेरा के सारे गुण जानने के बाद आप एलोवेरा के फायदे जान चुके होंगे. एलोवेरा त्वचा की सुरक्षा, एंटी-बैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-वायरल, और घाव भरने वाले गुणों के लिए जाना जाता है। एलोवेरा जेल को अच्छा माना जाता है तो आप इसका उपयोग बेहिचक कर सकते है।



GO TOP

🎉 You've successfully subscribed to Bodywise!
OK